किताब लेते ही नींद आती थी और अचानक ऐसे बने प्रसिद्ध UPSC शिक्षक!

किताबों से प्यार करो, उसे ठोकरावोठुकराओ नहीं. हाथ में किताब लेते थे तब नींद आने लग जाती थी और वह शख्स आज एक है एक प्रसिद्ध UPSC का शिक्षक. शायद आपने कभी अवध ओझा (Avadh Ojha) का नाम सुना होगा या कभी भी उनके बारे में जानने की कोशिश की होगी. अगर आप इस नाम से अनजान हो तो बता दू की अवध ओझा जब पढ़ाई करते थे तब उनको किताबे जरा भी पसंद नहीं थी और आज वह सबसे जाने-माने शिक्षक बन गए है. चलो जानते है इस प्रेरणादायक टीचर अवध ओझा के जीवन (Avadh Ojha Sir Biography) के बारे में.

avadh-ojha-sir-biography
Avadh Ojha Sir Biography

Who is Awadh Ojha?

अवध ओझा एक प्रसिद्ध शिक्षक है. UPSC Exam की तैयारी कर रहे स्टूडेंट्स उनको अच्छे से जानते होंगे। वह सिर्फ शिक्षक ही नहीं पर ऑनलाइन UPSC के क्लास संचालक, लेखक, मोटिवेशन स्पीकर और एक प्रसिद्ध समाज सेवक भी है. आज उसने बहुत बड़ा नाम बना लिया है।

Avadh Ojha Sir Biography in Short:

अवध ओझा का जन्म 13 जुलाई 1984 को उत्तर प्रदेश के गोंडा नाम के गांव में हुआ था. उनका पूरा नाम अवध प्रताप ओझा है. प्यार से उसे ओझा सर बुलाते है. ओझा सर के पिता का नाम श्रीमाता प्रसाद ओझा है. वह हिन्दू धर्म से है. अवध ओझा की उम्र 39 और ऊंचाई 5.8 फीट है. अवध ओझा के पिताजी पास्ट ऑफिस में काम करते है. वह एक सामान्य परिवार से है.

Avadh Ojha Sir Qualification:

अवध ओझा ने अपनी स्कूली शिक्षा फातिमा स्कूल गोंडा से की है. उसके बाद आगे की पढाई उसने इलाहबाद कॉलेज से की है. उनके माता-पिताजी अवध ओझा को मेडिकल की पढाई करवाना चाहते थे और उनके पिता जी का सपना था की वह डॉक्टर बने. लेकिन अवध ओझा पढ़ने में कमजोर था इसलिए उनका काम नहीं था. फिर अवध ओझा ने अपने मित्रो के साथ रहकर UPSC की तैयारी करने में लग गए. बाद में उन्होंने UPSC की एग्जाम दी लेकिन असफल रहे.

कहते है की हौसले बुलंद है तो कोई भी काम मुश्किल नहीं है. बाद में उन्होंने यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) की तैयारी लाखो छात्रों को करवाई. UPSC के लिए काफी ज्यादा छात्रों की संख्या बढ़ गई. वह हमेंशा सोचते थे की भले ही UPSC का मेरा सपना अधूरा रह गया, लेकिन छात्रों का सपना पूरा करूंगा और वह उनका सपना साकार करने में अहम भूमिका आज निभा रहे है.

Story of Awadh Ojha:

अवध ओझा बचपन से ही आलसी स्वभाव के इंसान थे. इनको पढ़ने का जरा सा भी मन नहीं करता था. कभी कभार जब वह किताब खोलते थे तब वो नाटक करते थे और उनको नींद आ जाती थी. उनको जरा भी पढ़ने में दिलचस्पी नहीं थी. अवध के माता-पिता उनको पढ़ने में बहुत ही मदद करते थे, लेकिन उनको तो बस मौज मस्ती करनी थी. जब उसने आगे का सोचा तब उनके मन में एक जिज्ञासा जगी और पढ़ने में भी मन लगा लिया. इतना ही नहीं, उनमें काफी सारा बदलाव भी आ गया. जब जब वह बड़ा होते गए तब तब कुछ करने की मन में ठान ली.

अवध ओझा ने अपनी पढाई भी पूरी की. बाद में उसके कुछ मित्र UPSC की तैयारी करने में जुड़ गए. अवध ओझा ने भी सोचा की मे भी यह कर सकता हु. फिर वह भी UPSC की तैयारी में जुड़ गया. लेकिन UPSC की एग्जाम में वह सफल नहीं हो पाए. 

एग्जाम में फैल होने के बाद उन्होंने कोचिंग क्लास की शुरुआत की. कुछ दिन छात्रों के संख्या नहीं हुई, बाद में धीरे धीरे कोचिंग में छात्रों की संख्या बढ़ती गई. फिर उसने कई सारे कोचिंग क्लास खोल डाले. और वह UPSC की तैयारी भी कराने लगे.

धीरे धीरे उनका नाम उनके गांव में बढ़ता गया और ऑनलाइन UPSC की तैयारी भी कराने लगे. कहते है की धीरज का फल मीठा होता है. ऐसे हीहमारे प्रसिद्ध शिक्षक है अवध ओझा सर.

avadh-ojha-sir-biography
Avadh Ojha Sir Biography

Avadh Ojha Sir Career:

अवध ओझा UPSC के छात्रों को पढ़ाते थे, लेकिन उसके साथ उनको अच्छा मार्गदर्शन भी दिया करते थे. उनकी करियर की शरुआत दिल्ली से हुई. उन्होंने दिल्ली में UPSC की तैयारी करवाना शुरू कर दिया था. दिल्ली में उसने कॉचिंग सेंटर में शिक्षण की शुरुआत की. उस कोचिंग सेंटर में चाणक्य आईएएस एकेडमी (Chanakya IAS Academy) और एबीसी एकेडमी आफ सिविल की सर्विस (ABC Academy of Civil Service) भी शामिल करवाई.

IQRA IAS नाम की कोचिंग संस्था उसने अपने नाम खोल ली. यह संस्था  खोलने के बाद उसके पास पैसे भी नहीं बचते थे. पैसे के लिए वह रात को BAR में जाकर नौकरी करने लगे और इसे वह अपना घर का किराया भी निकाल लेते थे. उन्होंने BAR में करीब 7-8 महीने तक काम किया.

साल 2020 में कोविड-19 की मारामारी के वजह से उनकी संस्था तथा शिक्षा प्रणाली बिल्कुल बंध हो गई थी. कोविड-19 की वजह से उन्होंने अपनी खुद की यूट्यूब चैनल बनाई और वही से वह ऑनलाइन कोचिंग से पढ़ाने लगे. यूट्यूब पर ऑनलाइन कोचिंग की वजह से उनका नाम मशहूर हो गया. इतना ही नहीं, उनके कोचिंग सेंटर में लाखो छात्रों पढ़ते है. अब वह ऑफलाइन ही नहीं परंतु UPSC की तैयारियां ऑनलाइन भी करवाते है. आखिर अवध ओझा सर की मेहनत रंग लाई.

Avadh Ojha Sir Wife:

अवध ओझा की शादी 1 मई 2007 को हुआ. उनकी पत्नी का नाम मंजरी ओझा है. उनको तीन बेटियां भी हैं. जिसका नाम बुलबुल, पिलु और गुनगुन है. 

Avadh Ojha Sir Net Worth:

अवध ओझा को एक प्रसिद्ध शिक्षक और यूट्यूबर के तौर पर एक पुरुष्कार भी दिया गया है. इतना ही नहीं, उनकी महीने की आवक 5 लाख रूपए से भी ज्यादा है और यूट्यूब से भी कमाते रहते है. उनकी टोटल नेट वर्थ 50,00,000 से भी ज्यादा है. वर्तमान समय में फ्रेंड फोल्लोविंग की वजह से यूट्यूब से ज्यादा कमा लेते है.

Avadh Ojha Sir Coaching Name:

अवध ओझा सर के कोचिंग सेंटर का नाम IQRA IAS है. IQRA IAS नाम का सेंटर महाराष्ट्र के पुणे में है. अवध ओझा सर ने IQRA IAS सेंटर 2019 में खोला था. कई सारे छात्रों UPSC की तैयारियां करने के लिए आते थे.

Avadh Ojha Sir Youtube Channel:

  • अवध ओझा सर यूट्यूब चैनल : RAY Avadh Ojha
  • अवध ओझा की वेबसाइट : Official Site

आपने यह प्रेरणादायक रियल लाइफ स्टोरी (Motivational Real Life Story) दिलचस्पी से पढ़ी इसका मतलब है की आपको ऐसी इंस्पिरेशनल रियल लाइफ स्टोरी (Inspirational Real Life Story) पढ़नी बहुत अच्छी लगती है। ऐसी ही पुरानी वास्तविक प्रेरणादायक कहानी भी आपको पसंद आएगी, जैसे की सिर्फ 2 रुपए कमाने वाली Kalpana Saroj आज है 700 करोड़ की मालकिन! की संघर्ष गाथा. और MBA की डिग्री छोड़ प्रफ्फुल बिल्लोर चाय बेच कर ऐसे बना करोड़पति!

अवध ओझा सर क्या पढ़ाते हैं?

अवध ओझा सर youtube में बच्चों को upsc की तैयारी कराते है.

ओझा सर का पूरा नाम क्या है?

ओझा सर का पूरा नाम अवध प्रताप ओझा है.

ओझा कौन सी जाति है?

ओझा एक ब्राह्मण जाति है.

ओझा सर अभी कहां पढ़ा रहे हैं?

ओझा सर अभी पुणे, महाराष्ट्र में पढ़ा रहे हैं.

अवध ओझा सर के कोचिंग का क्या नाम है.

अवध ओझा सर के कोचिंग का IQRA IAS नाम है.

Leave a Reply