Suicide Ka Vichar Chhod Ravi Ne Mobile Se Online Paise Kaise Kamaye?

रवि को सिरामिक कंपनी में मजदूरी का काम शुरू किया, क्योंकि वह 12वीं कक्षा में फेल हुआ था और घर की नाजुक स्थिति के चलते रवि को मजबूरी से सेरेमिक इंडस्ट्री में मजदूर के तौर पर काम करना पड़ा। फिर उसकी सकारात्मक सोच ने उनको इतना काबिल बनाया कि जोब से थोड़ा सा भी एक्स्ट्रा समय नहीं मिल पाता होने के बावजूद भी मोबाइल से खुदका घर और कार खरीद ली। उसने मोबाइल से ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए (Mobile Se Online Paise Kaise Kamaye) वह जानना सभी को बेहद पसंद आएगा।

mobile-se-online-paise-kaise-kamay
Mobile Se Online Paise Kaise Kamay

यहां रवि की दर्द भरी जीवन की कहानी दी गई है, जो पढ़कर सबको रुला भी सकती है और मोटिवेट भी कर सकती है। चलिए जानते है आगे की रवि ने कैसे करके दिखाया।

रख होंसला अगर कुछ पाना है तो,

छोड़ बहाना जो करके दिखाना है तो।

मजबूरी ने छुड़ाई पढाई करता था मजदूरी:

रवि इस लोअर मिडिल क्लास परिवार का लड़का था।उसके परिवार में कुल 5 लोग थे। रवि, उसके माता पिता और दो छोटी बहने। रवि ने 12वीं कक्षा तक अभ्यास किया हुआ था। उसकी इच्छा तो आगे पढ़ने की थी पर पिता की खाली जेब और बहनो की जिमेदारियो ने उसे ऐसा करने की इजाजत नहीं थी।

दूसरे बेरोजगार युवाओं की तरह ही रवि भी बहुत सी जगह नौकरी पाने की लिए घुमा, पर कही भी उसकी किस्मत ने साथ नहीं दिया। कही परकहाँ जाता की क्वालिफिकेशन कम है तो कही उसके पुराने कपडे देख कर ही उसे मना कर देते।

रवि ने सोचा था की कही अच्छी नौकरी मिल गई तो वो अपनी पढाई भी साथ ही साथ चालू रखेगा, पर कही भी उसकी काबिलियत को नहीं देखा गया और सिर्फ बाहरी दिखाव और क्वालिफिकेशन को सर्वप्रथम मान उसे रिजेक्ट कर दिया गया।

घर में सिर्फ एक पिता ही थे जो कमाते थे और सिर पर बहनो की शादी की जिम्मेदारिया भी थी। अब रवि के लिए घर पर बैठ पिता पे बोज बनना असहय हो गयाथा। रवि ने अब मजदूरी करना शुरू कर दिया  था। वह पुरे पुरे दिन खेतो में काम करता रहताथा।

पढ़े लिखे युवा की विवशता देख कभी कभी लोग भी ठंडी आह भर लेते, पर कोई उसके लिए क्या ही कर सकता था? रवि की जंग तो उसकी तक़दीर और मजबूरियों से थी।

कुछ समय यूं ही बीत गया। एक दिन रवि के एक दोस्त का फ़ोन आता है और वह रवि को बताता है कीवह जिस सिरामिक टाइल्स के कारखाने में नौकरी करता है वहा अभी कुछ लेबर्स की जरुरत है। तो अगर रवि चाहे तो वह उसे काम पर रखवा सकता है।

रवि को नौकरी की ऐसे भी लम्बे समय से तलाश थी। जिसे की वह महीने की एक फिक्स अमाउंट कमा सके। तो रवि ने बिना कुछ सोचे हां कर दी और अगले दिन सुबह माता-पिता का आशीर्वाद लेकर निकल पड़ा दूसरे शहर की ओर।

उसने सोचा था की उसकी परेशानियाँ यहाँ ख़त्म हो जाएगी, पर अभी तो बस शांत हवा चल रही थी असली तूफान आना तो अभी बाकी था।

10 हजार की तनखा के लिए 12 घंटे करना पड़ता था काम:

रवि के दोस्त ने उसे कंपनी ने एक रूम दिला दिया और अगले दिन से उसे अपने साथ काम पर ले गया। रवि की तन्खा 10 हजार महीना तै हुई थी। रवि का भी पहला दिन था तो वो भी खूब जोश में था, पर कुछ ही समय के बाद यह जोश बिलकुल ही ठंडा पड़ गया, जब उसे अहसास हुआ की यह सिरामिक का काम तो खेतो के काम से भी ज्यादा कठिन है।

उसे पूरे दिन में 12 घंटे बिना आराम किये काम करना पड़ता था। फिर घर जाकर खाना पकाना, कपडे धोना और दूसरे रोजमरा के काम भी खुद ही करने पड़ते थे। वह शुरू शुरु में तो इतना थक जाता था की, काम से आकर सीधा सो जाता था। खाना बनाकर खाने की भी उसमे हिमत नहीं बचती थी।

धीरे धीरे उसे इन सब की आदत सी होने लगी थी और कही जिमेदारियो के कारण भी वह चुप चाप बिना शिकायत करे काम किये जाता था। रवि की सैलरी भी अब आने लगी थी और वह उसका एक बड़ा हिस्सा घर पर भेज देता था। 

रवि हर रात बिस्तर पर पड़ा पड़ा सोचता की वह इस चक्रव्यूह से बहार भी निकल पायेगा या अभिमन्यु की तरह यही फस कर अपने प्राण गवा देगा। उसे कुछ अलग करना था, उसे अपने परिवार को एक अच्छी जिंदगी देनी थी और वह इसके लिये कुछ भी करने को तैयार था बस उसे किसी अच्छे और सच्चे मार्ग की खोज थी।

मन में चल रही एक लम्बी कश्मकश के अंत में वह अपनी स्थिति को नियति मान सो जाता और फिर सुबह उठ वही पूरा दिन तनतोड़ मजदुरी करता।

रवि ऐसे तो कुछ पढ़ा लिखा समझदार बंदा था पर उसे अभी भी इंटरनेट में कुछ ज्यादा मालूम नहीं पड़ता था। उसेने एक पूराना स्मार्ट फोन भी किसी से ख़रीदा था पर उसे अभी भी सिर्फ कॉलिंग, व्हाट्सअप और यूट्यूब जैसे कुछ ही सुविधाओं का उपयोग करना आता था।

रवि रोज रात को सोते सोते यूट्यूब पर वीडियो देखा करताथा। उसमे उसे एजुकेशन और हिस्ट्री से जुडी जानकारियों वाली वीडियो देखना खूब पसंद था। वह रोज समय निकाल कर अख़बार पर भी नजर डाल लेता तो कभी कबार कोई पुरानी किताब मिल जाये तो उससे भी कुछ दिनों में पढ़कर निपटा देताथा।

online-paise-kaise-kamaye
Online Paise Kaise Kamaye

एक रात ने बदल दी रवि की जिंदगी:

एक रात रवि की जिंदगी में दो ऐसी घटनाए हुई जिसे की आगे चल उसकी पूरी जिंदगी ही बदल गई। वह सोते सोते ऐसे ही वीडियो देख रहा था और उसका ध्यान एक वीडियो के टाइटल पर गया जहाँ लिखा था, “हर महीने यूट्यूब से कमाओ लाखो!!!”

कुतूहल वश रवि ने उस वीडियो पर क्लिक किया और बड़े ध्यान पूर्वक उससे पूरा देखा। वीडियो में बड़ी अच्छी तरह और बारीकी से समझाया गया था की यूट्यूब पर कैसे वीडियो बनाकर अच्छी खासी इनकम कमाई जा सकती है।

रवि ने भी सोचा क्यों न वो भी वीडियो बनाने की ट्राई करे। वह उसी वक्त खड़ा हो गया और अपने मनपसंद एक इतिहास के विषय पर बड़ी अच्छी तरह से वीडियो के लिए स्क्रिप्ट लिखने लगा।

विषय रवि का पसंदीदा था तो उसने देखते ही देखते स्क्रिप्ट लिख डाली और सोचा की अब आगे का काम वह कल करेगा।

उसने अपने मोबाइल में समय देखा तो काफी रात हो चुकी थी। वह सोने को जाने लगा। आज उसके मन में एक नई आस और एक नया कदम बढ़ाने का संतोष था तो उसे जल्द ही नींद आ गई।

रात के करीबन तीन साढ़े तीन बजे रवि के मोबाइल की रिंग बजती है। वह गहरी नींद में होता है तो उसे फोन की रिंग नहीं सुनाई देती। जैसे ही रिंग ख़त्म होती है वैसे दूसरी बार रिंग बजती है। रवि की नींद अब टूटती है और जरा जरा आंखे खोल वह मोबाइल की स्क्रीन की ओर देखता है।

डिस्प्ले पर उसके पापा का नाम फ़्लैश कर रहा होता है। वह जट से खड़ा हो जाता है और फ़ोन उठाता है। सामने से माँ और बहनो की रोने की आवाज आती है। उसका दिल यह आवाजे सुन बैठ जाता है। वो मन ही प्राथना करने लगता है की जो वो सोच रहा है ऐसा न हो।

सामने से कोई रिश्तेदार बताता है की उसके पिता अब नहीं रहे। यह सुन रवि का सीना फट जाता है। वह बहुत जोर से रोना चाहता था पर वह रो नहीं पाता और आवाज को अपने अंदर ही दबा लेता है। कुछ आँशु नजर चुराकर गिर ही जाते है।

वह अपने गाँव, अपने घर जाता है। सभी गाँव के लोग, रिश्तेदार, पडोसी उन्हें आश्वासन देते है। रवि के पिता की अंतिमयात्रा खत्म की जाती है। घर जो लोगो से भरा था वह थोड़ी ही देर में खाली हो जाता है। सब अपने अपने घर चले जाते है, बच जाते है तो बस रवि, उसकी माँ और बहने।

बहनों और माँ की जिम्मेदारी अब थी रवि पर:

रवि का चेहरा उसकी परेशानियां बड़ी अच्छी तरह दिखा रहा था। आज तक उसके सिर पर पिता का साया था तो उसे एक हिमत मिलती थी पर अब तो वह भी छीन गया था। उसके मन में युद्ध छिड़ा था की वह कैसे सब ठीक करेगा और कैसे माता और बहनो को अच्छी जिंदगी देंगा।

रवि कुछ हफ्तों तक गाँव में रहापर कमाना भी तो जरुरी था। उसकी माता ने उसे समझाकर वापस शहर भेज दिया। रवि वापस वही पुरानी 12 घंटो वाली नौकरी करने लगा। अब जो भी तन्खा आती उसे रवि बस अपनी दो वक्त की रोटी के खर्चे को निकाल कर बाक़ी रुपियो को अपने घर भेज देताथा।

दिन हफ्तों में और हफ्ते महीनो में बदल गए पर अभी भी घर की स्थिति नाजुक थथी। रवि की माता भी कुछ न कुछ काम कर ही लेतीथी। अब रिश्तेदारों ने भी रवि को ताने देना शुरू कर दिया था की बहनो की शादी करेगा या घर में ही बिठा रखेगा। 

रवि कोऐसी ही बातें रात सुई की तरह चुभती और सोने नहीं देतीथी। वह एक रात जग रहा था। उसके मन में विचार का तूफान चल रहा था। इससे छूटने के लिए उसने अपना मोबाइल निकला और यूट्यूब पर वीडियो देखने लगा। तभी अचानक उसके हाथ में वही पुरानी, “यूट्यूब से पैसे कैसे कमाई” वाली वीडियो लग गई।

ऐसे रवि ने शुरू किया मोबाइल पर वीडियो बनाना:

रवि के दिमाग में करंट दौड़ गया। उसे अपनी पुरानी बनाई हुई स्क्रिप्ट याद आई। वह उसे अपने बक्शे में ढूंढने लगा और कुछ मशकत के बाद उससे आखिरकार वह मिल गई। रवि ने अब वीडियो बनाने का सोचा। स्क्रिप्ट तो उसने लिख ली थी अब बस वीडियो शूट करना बचा था।

वीडियो शूट करना सबसे बड़ी परेशानी थी। क्योंकी रवि ना ही तो रूम में अकेला रहता था की वह रात को लाइट जलाकर वीडियो बना सके। दूसरी परेशानी यह थी की पास ही में फैक्ट्री होने के कारण बहुत शोर रहता था। जिसमे वीडियो बनाना मानो असंभव ही था।

रवि ने कुछ सोचा और फिर वह सो गया। सुबह सूर्य की पहली किरण से भी पहले रवि उठा और फैक्ट्री से दूर एक शांत जगह पर वह चला गया। जैसे ही कुछ रोशनी हुई वैसे ही उसने अपने फोन की चंद पत्थरों के सहारे लगाया और वीडियो बनाने लगा।

उसे कोई अनुभव नहीं था और यह काम उसकी सोच से भी ज्यादा कठिन निकला। तक़रीबन 2 घंटो की मेहनत के बाद वह 4 मिनट की वीडियो रिकॉर्ड कर पाया। वह आज खुश था। रवि अपने रूम पर वापिस आकर कुछ नास्ता खाकर काम पर चला गया।

अब शाम को वापस आ कर सबसे पहले रवि ने वीडियो को कैसे एडिट करना है यह सीखा। उसके पास कम्प्यूटर तो था नहीं तो वह सब मोबाइल से ही सिख रहा था और कर रहा था। कुछ घंटो की मेहनत के बाद अब वीडियो एडिट हो कर तैयार हो गया था।

फिर वापस यूट्यूब की ही मदद से उसने यूट्यूब पर चैनल बना कर वीडियो कैसे डालते है यह सीखा। रवि ने अपनी पहली वीडियो यूट्यूब पर अपलोड कर दी और वह सो गया।सुबह उठने के साथ ही उसने मोबाइल देखा। उसे आशा थी की अब तक तो उसकी वीडियो वायरल हो गई होगी।

रवि बिना रुके यूट्यूब पर वीडियो बनाता रहा:

पर यह इतना भी आसान कहा था? वीडियो पर महज 3 व्यू आये हुए थे। वह थोड़ा निराश तो हुआ पर उसने सोचा चलो शाम तक ही वायरल हो जाएगी। यही सोच कर वह काम पर चला गया।

वापस आकर देखा तो आंकड़ा 3 से बढ़ कर चार हो गया था। रवि निराश तो हुआ पर उससे यह बात बड़ी जल्दी समज आ गई की जिस तरह उस यूट्यूबर ने बतायाथा। पैसे कामना और वीडियो पर व्यू लाना इतना भी आसान नहीं है।

रवि ने उस पूरी रात वीडियो देखे की कैसे एक सक्सेस्फुल यूट्यूबर बना जा सकता है। अब उसे चुनौतीयो का एहसास हो गया था पर उसने भी अब पीछे न हटने की ठान ली थी।

वह फिर सुबह जल्दी उठा और फिर वही शांत जगह पर जा कर वीडियो बनाने लगा। आज वह बिना स्क्रिप्ट के ही इतिहास के विषय पर अपना मंतव्य दे रहा था। आज उसने पहली बार के मुकाबले थोड़ी जल्दी वीडियो बनाली।

फिर काम पर चला गया। फिर शाम को वापस आ कर वीडियो को एडिट कर के यूट्यूब पर अपलोड कर दिया।अब रवि का यही दिनचर्या बन गई थी। वह हफ्ते भर में 4 वीडियो बनाता था और उसे यूट्यूब पर अपलोड कर देताथा।

ऐसे ही करीबन 3 माह जितना समय बीत गया पर अभी तक रवि की एक भी वीडियो पर 100 से ज्यादा व्यू नहीं आये थे और वह भी अब धीरे धीरे हताश होता जा रहा था।

ghar-baithe-paise-kaise-kamaye-mobile-se
Ghar Baithe Paise Kaise Kamaye Mobile Se

रवि की जिंदगी में आया और एक भयंकर मोड़:

तभी अचानक उसकी जिंदगी में एक भयंकर मोड़ आया। उसे और उसके साथ के कई और कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया गया और नये कर्मचारियों को भर लिया गया। इस बात से गुस्सा हो कर रवि और उसके सहपाठियों ने बहुत रोष बताया और प्रदशन भी किया।

जिसे कोई खास फरक नहीं पड़ा और आखिर में सबको अपने अपने गाँव आना पड़ा। रवि के हालत एक तो पहले से ही नाजुक थे, अब समय के इस वार ने इसे ओर कमजोर कर दिया। रवि गाँव में जहाँ मिले वहा काली मजदूरी करने के लिए जाने लगा।

जवान बहने अभी भी घर में बैठी थी और रवि एक अच्छे भाई होने का फर्ज नहीं निभा पाया यह बात उसे काटे जा रही थी। अब उसका वीडियो बनाना भी बंध हो गया था या यु कहो की रिचार्ज करवाने के पैसे न होने के कारण रवि ने ही हार मान ली थी।

कुछ महीने बीत गए और रवि अभी भी नौकरी की तलाश में था। खेत मजदूरी भी वह करता ही जा रहा था। साथ ही साथ अब रिश्तेदारों और सारे गाँव वालोने उसे और उसकी माँ को ताने देना और अपमान करना शुरू कर दिया थाऔर ऐसी ही ओर भी बहुत सी परेशानियाँ थी।

रवि ने कदम आत्महत्या के लिए बढ़ाय:

एक दिन रवि का मन उसके दिमाग पर हावी हो गया और उसने सारी परेशानियां ख़त्म करने के लिए आत्महत्या करने का सोचा।रवि बड़ी हिम्मत जुटा कर अपने गाँव के कुवे की और चल पड़ा।आज मानो लग रहा था की रवि की कहानी यहीं समाप्त हो जाएगी, पर कहते है न की खुदा जब तुमसे सब छीन रहा हो तो खुश हो जाव क्योंकि वह तुम्हे अब सब देने वाला होता है।

रास्ते में ही रवि का एक मित्र मिल गया, जो बैठे बैठे मोबाइल पर कुछ वीडियो देख रहा था। रवि का ध्यान उसकी ओर गया वह यूट्यूब पर वीडियो देख रहा होता है। रवि को अचानक अपने यूट्यूब चैनल की याद आई। पैसे की तंगी के कारण रवि ने कई महीनो से रिचार्ज नहीं करवाया था।

उसे यह भी नहीं पता था की आखिर उसकी चैनल का क्या हुआ? रवि ने अपने दोस्त से मोबाइल ले कर अपनी चैनल का नाम जैसे ही सर्च किया वैसे ही उसके सामने उसके द्वारा बनाई गई सारी वीडियो आ गई।

रवि का मुँह खुला के खुला रह गया। उसके पैर कांपने लगे। उसको अपनी आँखों पर विश्वास नहीं हो रहा था की उसके ही यह वीडियो थे! क्योंकी वीडियो पर 100, 200 या 1000 नहीं पर लाखो व्यूस थे। कमेंट में लोगों ने उसकी खूब सरहाना की थी।

Ravi Ne Mobile Se Online Paise Kaise Kamaye?

उस रात मरने के ख्याल को रवि ने अपने अंदर से निकाल फेका और कुछ उधार पैसे लेकर अपने फ़ोन में रिचार्ज करवाया और अपनी चैनल को मॉनेटीज़ करवा कर अगले ही दिन सुबह से वह ओर नए वीडियो बनाने लगा।

धीरे धीरे उसके वीडियो यूट्यूब पर ट्रेंडिंग करने लगे। एक अच्छी इनकम भी अब हर महीने आना शुरू हो गई। वह धीरे धीरे अपनी स्किल्स को ओर ज्यादा बेहतर बनाता चला गया।घर के बिगड़े हालात अचानक ही मानो सुधर गए। रवि पुरे दिन घर पर ही बैठ कर वीडियो बनता और पैसे कमाता। उसने अब एक कंप्यूटर भी ले लिया था और एक अच्छा कैमरा भी उसे जल्द ही अपनी मेहनत के बलबूते पर मिल गया।

शुरुआत में थोड़ी कमाई आय फिर धीरे धीरे कमाई बढ़ती चली गई और देखते ही देखते रवि ने एक शानदार घर बना लिया। बड़ी ही धूम धाम से बहनो की शादी करी जिसे सारा गाम देखता रह गया। कुछ ही समय के बाद रवि ने अपने सपनो की गाड़ी भी खरीद ली।

आज वह अपनी माता को एक सपनों की जिंदगी देने में कामयाब हो गया। आज वह घर बैठे वीडियो बनाकर ही महीने के लाखो कमाता है (Ghar Baithe Paise Kaise Kamaye Mobile Se)।

आपने यह रवि ने मोबाइल से ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए? (Mobile Se Online Paise Kaise Kamaye?) स्टोरी दिलचस्पी से पढ़ी इसका मतलब है की आपको ऐसी इंस्पिरेशनल रियल लाइफ स्टोरी (Inspirational Real Life Story) पढ़नी बहुत अच्छी लगती है। ऐसी ही हमारी ओर पुरानी प्रेरणादायक कहानी भी आपको पसंद आएगी, जैसे की स्टूडेंट मोटिवेशनल स्टोरी नीरज ने हारकर जीती बाजी और सुक्क्सेस्फुल बिसनेस वुमन पत्नी ने ऐसे बदले हालत!

ऐसी ही नई कहानी के अपडेट के लिए हमारी टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कर लेना और प्रेरणादायक वीडियो के लिए हमारी यूट्यूब चैनल संघर्ष गाथा सब्सक्राइब कर लेना.

क्या घर बैठे मोबाइल से पैसे कमाए जा सकते है? (Ghar Baithe Paise Kaise Kamaye Mobile se)

हाँ, घर बैठे मोबाइल से पैसे कमाए जा सकते है।

ऐसी ही और मोटिवेशनल कहानी हम कहाँ पढ़ सकते है?

ऐसी ही और मोटिवेशनल कहानियाँ आप संघर्षगाथा के माध्यम से पढ़ सकते हो।

This Post Has One Comment

Leave a Reply