भारत की प्रसिद्ध मुक्केबाज महिला मैरी कॉम की सफलता की कहानी

आज कल हर जगह पर लड़कियाँ ही अपने दम पर खड़ी रहती है. ऐसे ही हमारे बिच एक महिला खिलाड़ी है जिन्होंने अपने दम पर अपनी महान उपलब्धियों से भारत का नाम रोशन किया है. उस खिलाड़ी का नाम है मैरी कॉम. शायद आपको जानने की जिज्ञासा होगी की आखिर यह मेरी कॉम कौन है (Who Is Mary Kom)? मैरी कॉम एक भारतीय महिला मुक्केबाज है. जिन्होंने हर हाल में मुक्केबाजी का ख़िताब अपने नाम किया है. चलिए जानते है मैरी कॉम के जीवन (Mary Kom Biography) के बारे में रसप्रद जानकारी विगत से.

mary-kom-biography
Mary Kom Biography

Who is Mary Kom?

महिला बॉक्सिंग की दुनिया में क़दम रखने वाली पहली महिला मैरी कॉम है. मैरी कॉम भारत की मशहूर बॉक्सिंग महिला है. 2001 में प्रथम बार नेशनल वुमन्स बॉक्सिंग चैंपियनशिप की भारतीय महिला है. मैरी कॉम 10 राष्ट्रीय खिताब अपने नाम कर लिया है. उन्होंने 2012 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया था. मैरी कॉम हर हाल में जीत कर वह भारत की पहेली बॉक्सिंग महिला बन

Mary Kom Biography:

मैरी कॉम का जन्म 1 मार्च 1983 में कन्गथेइ, मणिपुरी, भारत में हुआ था. उसके पिता का नाम मांगते अक्हम कोम और माता का नाम मांगते तोंपा कोम है. उसका पूरा नाम मांगते चुंगनेजंग मेरी कोम है. उसके पिता एक गरीब किसान थे. मैरी कॉम मध्यवर्गी परिवार से है. अपने माता=पिता को मदद करने के लिए उसके साथ काम करती थी. मैरी कॉम का वेट 55 kgs और Height 1.58m है. मैरी कॉम का गृहनगर मणिपुर के चुराचांदपुर जिले में है.

Mary Kom Education:

मैरी कॉम ने अपनी शिक्षा प्राथमिक शिक्षा लोकटक क्रिश्चियन मॉडल स्कूल और सेंट हेवियर स्कूल से पूरी की है. वहा वो 6th तक ही पढ़ी. उसके बाद वह बाद संत ज़ेवियर कैथोलिक स्कूल चली गई. वहा उन्होंने आठवीं की परीक्षा पास की. आगे की शिक्षा के लिए वह आदिमजाति हाई स्कूल चली गई. वह 10 की परीक्षा में पास नहीं हो पाई. उसने अपनी पठाई बिच में ही छोड़ दी. उन्होंने अपना ग्रेजुएशन चुराचांदपुर कॉलेज, इम्फाल से किया.

Mary Kom Career:

मैरी कॉम को बचपन से ही एथलीट बनने का शौक था. जब स्कूल में कार्यक्रम होता’था तो वह फुटबॉल जैसे में हिस्सा लेती थी. उसने कभी भी बॉक्सिंग में हिस्सा लिया ही नहीं. उनके करियर की शरुआत सन 1998 में बॉक्सर ‘डिंगको सिंह’ में हिस्सा लिया था. उस समय उसने एशियन गेम्स में गोल्ड मैडल जीता था. उस समय बॉक्सिंग करते हुए डिंगको को देखा, और इसे अपना करियर बनाने का सोच लिया.

मैरी कॉम ने सन 2001 में अन्तराष्ट्रीय स्तर पर अपना करियर की शुरू की. मैरी कॉम ने अमेरिका में आयोजित AIBA वीमेन बॉक्सिंग चैम्पियनशीप में हिस्सा लिया और 48 kg वेट का सिल्वर मैडल जीता. उसके बाद सन 2002 में तुर्की में आयोजित AIBA वीमेन बॉक्सिंग चैम्पियनशीप में भी हिस्सा लिया. मैरी कॉम ने अपने जीवन में बहुत ही संघर्ष कर के आगे बढ़ी है. उसने अपने माता-पिता के लिए सबकुछ कुर्बान कर दिया था.

मैरी कॉम ने सन 2012 में मोंगोलिया में आयोजित ‘एशियन वीमेन बॉक्सिंग चैम्पियनशीप’ में हिस्सा लिया और उसने 51 kg वेट क्लास में गोल्ड मैडल जीता. फिर उसने सन 2014 में साउथ कोरिया में एशियन गेम्स में वीमेन फ्लाईवेट में गोल्ड मैडल जीता और इतिहास रच दिया.

Coaches of Mary Kom:

मैरी कॉम के कोच के नाम:

  • गोपाल देवांग
  • रोंगमी जोसिया
  • चार्ल्स अत्किनसन
  • एम नरजीत सिंह

Mary Kom Personal Life:

मैरी कॉम के पति का नाम करुंग ओंखोलर कोम है. मैरी कॉम के पति ने खूब महेनत करके मैरी कॉम को आगे बढ़ाने का सोचा. दोनों के बीच 4 साल तक दोस्ती का गहरा रिश्ता रहा और सन 2005 में मैरी कॉम ने शादी कर ली. उसके बचे भी है. तीन लडके है. 2007 में जुड़वाँ बेटों का जन्म हुआ था और दूसरे का जन्म 2013 में हुआ था. मैरी ने माँ बनने के बाद भी हर नहीं मानी.

Mary Kom awards:     

  • सन 2003 में अर्जुन अवार्ड
  • सन 2006 में पद्मश्री अवार्ड
  • सन 2007 में  “राजीव गांधी खेल रत्न”
  • सन 2007 में  पीपल ऑफ द ईयर
  • सन 2008 में CNN-IBN एव रिलायंस इंडस्ट्री द्वारा रियल हॉर्स अवार्ड
  • सन 2008 में पेप्सी MTV यूथ आइकन
  • सन 2008 में AIBA द्वारा “मैग्नीफिसेंट मैरी” अवार्ड
  • सन 2009 में राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड
  • सन 2010 में सहारा स्पोर्ट्स अवॉर्ड द्वारा स्पोर्ट्स वूमेन ऑफ द ईयर का अवार्ड
  • सन 2013 में पद्मभूषण से सम्मानित किया गया.

Mary Kom Film:

सन 2014 में मैरी कॉम के जीवन पर फिल्म बनाई गई थी. जिसमे मैरी कॉम का रोल मशहूर अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने किया था. उस फिल्म के निर्माता Omung Kumar है. प्रियंका चोपड़ा का रोल काफी सारे लागेको पसंद आया था.

अगर आप या आपके आस पास भी कोई ऐसी व्यक्ति है जो अपने जीवन में बहुत संघर्ष करके सफलता की चोटी पर पहुंचे है, तो उनके बारे में हमें हमारा संपर्क करके जरूर से बताए। हम उनकी रियल लाइफ स्टोरी (Real Life inspirational Story in Hindi) इस साइट पर प्रसिद्ध करेंगे, ताकी अन्य लोगों को प्रेरणा मिल सके और जीवन में आगे बढ़ पाए। इस मोटिवेशनल रियल लाइफ स्टोरी (Motivational Real Life Story) को अपने दोस्तों के साथ भी जरूर से शेयर करना और आपका मंतव्य निचे कमेंट करके जरूर से बताना।

आपने यह Mary Kom Biography दिलचस्पी से पढ़ी इसका मतलब है की आपको ऐसी इंस्पिरेशनल रियल लाइफ स्टोरी बहुत अच्छी लगती है। ऐसी ही पुरानी वास्तविक प्रेरणादायक कहानी भी आपको पढनी अच्छी लगेगी, जैसे की Bigg Boss में खुदको कैटरीना कैफ मानने वाली शहनाज गिल की दिलचस्प जानकारी और फुटपाथ सिंगर से दुनिया का मशहूर सिंगर और अरबपति बना अब्दू रोजिक (Abdu Rozik) कौन है? के बारे में जानते है

ऐसे ही जीरो से हीरो (Zero to Hero) बने महान लोगों की प्रेरणादायक कहानियां का वीडियो देखना पसंद करते हो तो हमारी यूट्यूब चैनल Sangharsh Gatha को जरूर से सब्सक्राइब कर लेना। लेटेस्ट अपडेट के लिए हमारे साथ बने रहने के लिए हमारी टेलीग्राम चैनल Sangharsh Gatha को भी ज्वाइन कर लेना. धन्यवाद्.

मैरी कॉम की उम्र क्या है?

मैरी कॉम की उम्र 40 वर्ष है.

मैरी कॉम से हम क्या सीख सकते हैं?

मैरी कॉम से हम सीख मिलती है की कभी भी अपनी कमजोरी के बारे में मत सोचिए.

मैरी कॉम का उपनाम क्या है?

मैरी कॉम का पूरा नाम मैंगते चंग्नेइजैंग मैरीकॉम है.

भारत की पहली महिला बॉक्सर कौन है?

भारत की पहली महिला बॉक्सर मैरी कॉम है.

फेमस बॉक्सर इन फीमेल कौन है?

फेमस बॉक्सर इन फीमेल कौन है मैरी कॉम है.

This Post Has 2 Comments

Leave a Reply