आखिर यह कौन है जो पानीपुरी बेचकर एक मशहूर भारतीय क्रिकेटर बना!

क्रिकेट एक ऐसा मशहूर खेल है जहां लोगों का सपना साकार हो जाता है. क्रिकेट के कई लोगो आते जाते रहते है. परंतु आज तक आपने किसी पानीपुरी बेचने वाले का बेटा क्रिकेटर बन सका है? ऐसे ही आप को एक सफल व्यक्ति की प्रेरक कहानी (Short Motivational Story in Hindi for Success) के बारे में बताने वाली हो. जो बहुत ही कम उम्र में पानीपुरी बेच कर आज मशहूर क्रिकेटर बन चूका है. उसने 10 साल की उम्र में ही अपना घर छोड़ दिया था. आज वो लड़का आईपीएल (IPL) में Rajasthan Royals के साथ खेल रहा है.

short-motivational-story-in-hindi-for-success
Short Motivational Story in Hindi for Success

IPL एक ऐसा खेल है जहां लोगों की जिंदगी ही बदल जाती है. जैसे की यशस्वी जयसवाल. यशस्वी जयसवाल बहुत ही मध्यवर्गी परिवार से है उनके पिताजी पानीपुरी बेच कर अपना गुजरान चलाते है. यशस्वी ने 10 साल की उम्र में ही क्रिकेट के लिए घर छोड़ दिया था. वह क्रिकेट ग्राउंड में ही रहते थे. उसको ही अपना घर मानता था. यशस्वी खाना भी क्रिकेट ग्राउंड में खाता था. उनकी परिस्तिथि बहुत ही नाजुक थी.

यशस्वी जयसवाल आजाद मैदान में पानीपुरी बेचता था. जिसकी वजह से उन्हें भूखे ना सोना पड़े. एक दिन ऐसा भी था की कुछ खाने को नहीं मिलता था. वह भूखे पेट ही सो जाता था. उसने एक डेरी में भी काम किया था. परंतु उसने भी काम से निकाल दिया. यशस्वी ने एक क्लब से दरखास्त किया की मुझे रहने के लिए कुछ चाहिए, लेकिन क्लब के मालिक ने बोला की उसको अच्छा प्रदर्शन करना होगा तब ही वो उसको टेंट में रख सकता है.

टेंट में यशस्वी काम रोटी बनाने का करता था. कहते है ना के पैसे के लिए कुछ भी करना पड़ता है. ऐसे ही काम यशस्वी जयसवाल ने किया. पैसे के लिए वह क्रिकेट ग्राउंड में बोल शोधने का काम भी करता था.

Yashasvi Jaiswal Biography:

यशस्वी जयसवाल का पूरा नाम यशस्वी भूपेंद्र कुमार जयसवाल है. उनका जन्म 28 दिसम्बर 2001 के दिन उत्तर प्रदेश के सुरियावां में हुआ था. उनके पिता का नाम भूपेंद्र कुमार जयसवाल है और माता का नाम कंचन जयसवाल है. वह सामान्य परिवार से था. यशस्वी जयसवाल के दो भाई और तीन बहने भी है. यशस्वी के पिता को भदोही गांव में एक छोटी सी हार्डवेयर की दुकान थी और उनकी माता एक गृहिणी है. 

Yashasvi Jaiswal Education:

यशस्वी जायसवाल 10 पास की है. उन्होंने अपने बाल्यकाल से ही क्रिकेट खेलने के कारन सिर्फ मेट्रिक की परीक्षा ही पास की हुई है. 10 साल की उम्र में ही क्रिकेट के लिए अपना परिवार और घर छोड़ दिया था. उनका परिवार बहुत ही साधारण था इसलिए उसके पापा क्रिकेट की ट्रेनिंग के खर्च को नहीं उठा पाते थे. यशस्वी को 11 साल के थे तब वह मुंबई चले गए.

Financial Condition of Yashasvi Jaiswal:

यशस्वी जायसवाल को क्रिकेट का बहुत ही शौक था. लेकिन उसके पिता जी के पास पैसा नहीं था. उसने अपने दोस्त के घर मुंबई भेज दिया. ताकि वह क्रिकेट की ट्रेनिंग ले पाए। यशस्वी के अंकल एक मुस्लिम यूनाइटेड क्लब में मैनेजर के पद पर थे और उन्होंने मालिक से यशस्वी को टेंट में रहने के बारे में पूछा. तब यशस्वी एक प्लास्टिक के टेंट में रहने लगा.

टेंट में रहकर काम करता था और प्रैक्टिस भी करता था. दिनभर काम करने के बाद भी उसने क्रिकेट के लिए हार नहीं मानी. प्लास्टिक के टेंट में गर्मी के कारण वह अच्छे से रह नहीं पता था. कभी कभी उसको ग्राउंड में जाकर सोना पड़ता था. यशस्वी जिस ग्राउंड्समैन के साथ रहता था, कभी कभार उसके साथ लड़ाई भी हो जाती थी.

Yashasvi Jaiswal Career:

यशस्वी जयसवाल के कोच ज्वाला सिंह ने यशस्वी के लिए खूब महेनत की है. ज्वाला सिंह की नजर जब यशस्वी खेल रहा था तब पड़ी. यशस्वी के कोच भी उत्तरप्रदेश के थे. यशस्वी जयसवाल की क्रिकेट की शुरुआत बहुत जल्द हो गई थी. लेकिन कुछ दृष्टांतों में वर्ष 2015 में जब वे जाइल्स शील्ड मैच में आए, तब नाबाद 319 रनों की शानदार पारी खेली थी. यशस्वी का चयन मुंबई की अंडर-16 टीम में हुआ. साल 2018 में यशस्वी  ने एशिया कप में 318 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली और मैच जीताकर यशस्वी बने प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट. सन 2019 यशस्वी ने दक्षिण अफ्रीका के सामने 220 बॉल में 173 रन बनाये.

2020 में खेले गये अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप में लिए भारत की टीम में यशस्वी का चयन हुआ और मैच में इन्होंने टॉप स्कोर बनाए.  पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में सेंचुरी भी लगाई. यशस्वी ने 2018-19 रणजी ट्रॉफी में मुंबई टीम के लिए प्रथम श्रेणी में डेब्यू किया और सितंबर 2019 में 2019-2020 विजय हजारे ट्रॉफी में लिस्ट में शामिल हुआ.

IPL Career of Yashasvi Jaiswal:

यशस्वी जयसवाल की IPL करियर की शुरुआत वर्ष 2020 में हुई थी. जब राजस्थान रॉयल्स ने उन्हें 2 करोड़ 40 लाख की कीमत में जेक्ट ने नीलामी में अपनी टीम में शामिल किया गया था. वह पिछले 4 सीजन में राजस्थान के साथ ही खेलते थे. 2023 में उनकी नीलामी बढ़कर 4 करोड़ रुपये हुई. उन्होंने अभीतक आईपीएल में 32 मैच ही खेले है. IPL 2023 में उसका प्रदर्शन गजब का हुआ है.

लेकिन उन्होंने अपने जीवन के इतिहास में मुंबई के साथ में 124 रनो की साझेदारी निभाई थी. उसने सिर्फ 62 गेंदों में ही 124 की साझेदारी बेखुबी निभाई थी. उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया और मोस्ट वैल्युएबल एसेट ऑफ द मैच, बियोन्ड द बाउंड्रीज लॉन्गेस्ट सिक्स, गेमचेंजर ऑफ द मैच और ऑन द गो फोर्स के अवार्ड से सम्मानित भी किया गया.

अगर आप या आपके आस पास भी कोई ऐसी व्यक्ति है जो अपने जीवन में बहुत संघर्ष करके सफलता की चोटी पर पहुंचे है, तो उनके बारे में हमें हमारा संपर्क करके जरूर से बताए। हम उनकी रियल लाइफ स्टोरी (Real Life inspirational Story in Hindi) इस साइट पर प्रसिद्ध करेंगे, ताकी अन्य लोगों को प्रेरणा मिल सके और जीवन में आगे बढ़ पाए। इस मोटिवेशनल रियल लाइफ स्टोरी (Motivational Real Life Story) को अपने दोस्तों के साथ भी जरूर से शेयर करना और आपका मंतव्य निचे कमेंट करके जरूर से बताना।

आपने यह Short Motivational Story in Hindi for Success दिलचस्पी से पढ़ी इसका मतलब है की आपको ऐसी इंस्पिरेशनल रियल लाइफ स्टोरी बहुत अच्छी लगती है। ऐसी ही पुरानी वास्तविक प्रेरणादायक कहानी भी आपको पढनी अच्छी लगेगी, जैसे की वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन चलाने वाली पहली महिला सुरेखा यादव और विकलांग महिला अरुणिमा सिन्हा के बारे में जानते है

ऐसे ही जीरो से हीरो (Zero to Hero) बने महान लोगों की प्रेरणादायक कहानियां का वीडियो देखना पसंद करते हो तो हमारी यूट्यूब चैनल Sangharsh Gatha को जरूर से सब्सक्राइब कर लेना। लेटेस्ट अपडेट के लिए हमारे साथ बने रहने के लिए हमारी टेलीग्राम चैनल Sangharsh Gatha को भी ज्वाइन कर लेना. धन्यवाद्.

यशस्वी जायसवाल का मनपसंद क्रिकेटर कौन है?

यशस्वी जायसवाल का मनपसंद क्रिकेट विराट कोहली है.

What is the age of Yashaswi Jaiswal?

Yashasvi Jaiswal age is 22 years.

यशस्वी जायसवाल के कोच का नाम क्या है?

यशस्वी जायसवाल के कोच का नाम ज्वाला सिंह है.

यशस्वी जायसवाल बल्लेबाजी किस हाथ से करते है?

यशस्वी जायसवाल बाएं हाथ के बल्लेबाज है.

यशस्वी कहाँ से हैं?

यशस्वी जायसवाल सूर्यावां, भदोही, उत्तर प्रदेश से है.

This Post Has One Comment

Leave a Reply